Summary of Song of the Rain in Hindi by Khalil Gibran

0

“Song of the Rain” कविता Kahlil Gibran द्वारा लिखा गया है। यह कविता सबसे पहले “Tears and Laughter” नामक कविताओं के संग्रह में प्रकाशित हुआ। यह संग्रह 1947 में प्रकाशित हुआ था। यह कविता प्रकृति के इर्द गिर्द रची गई है। वर्षा प्रकृति की गोद में पैदा होती है, और यह प्रकृति के लिए बहुत खुशी लाती है। उसका पूरा जीवन उसी स्थान पर बीत जाता है, फिर भी उसे कोई पछतावा नहीं होता है। वह अपने संक्षिप्त अस्तित्व (जीवनकाल) के दौरान माँ प्रकृति के बगीचे को सुशोभित करने के लिए बहुत खुश हैं।


About the Poet Khalil Gibran in Hindi :

Kahlil Gibran का जन्म 6 जनवरी 1883 को लेबनान के बिशरी में हुआ था। बहुत गरीब होने के कारण, उनकी शिक्षा केवल एक गांव के पुजारी तक ही सीमित थी, जो उन्हें सीरियाई और अरबी भाषाओं के साथ-साथ धर्म और बाइबल के बारे में पढ़ाते थे।

जब वह आठ साल का था तब उनके पिता को टैक्स चोरी के लिये गिरफ्तार कर लिया गया और उनकी सारी प्रॉपर्टी जब्त कर ली गई। उनकी साहसी माँ ने उन्हें U.S. ले जाने के फैसला किया। वे 1895 में बोस्टन पहुंचे।

सन 1904 में बोस्टन में उन्होंने अपनी पहली कला प्रदर्श्नी की। उन्होंने पैरिस में August Rodin से आर्ट की शिक्षा प्राप्त की। 1912 में वह न्यूयॉर्क में बस गए, जहां उन्होंने खुद को लेखन और चित्रकला के लिए समर्पित कर दिया। उन्होंने सुरुवात में Arabic भासा में लिख परन्तु 1918 के बाद उन्होंने ज्यादा तर इंग्लिश में लिखा। उन्होंने 1920 में Mahgar नामक एक सोसाइटी बनाई अरब लेखकों के लिए। 10 अप्रैल 1931 में उनकी मृत्यु हुई।

Summary of Song of the Rain by Khalil Gibran in Hindi :

1st stanza:

I am dotted silver threads dropped from heaven

By the gods. Nature then takes me, to adorn

Her fields and valleys.

इस पंक्ति में बारिश कहती है कि वह चांदी के धागे का रूप लेकर स्वर्ग से देवताओं के आदेश पर आया  है। एक बार जब वह जमीन पर पहुंच जाता है, तो उसे प्रकृति के क्षेत्र और घाटियों को सुशोभित करने के लिए माँ प्रकृति द्वारा उपयोग किया जाता है।

 

2nd stanza:

I am beautiful pearls, plucked from the

Crown of Ishtar by the daughter of Dawn

To embellish the gardens.

इन पंक्ति में बारिश कहता है की वह उस मोती की तरह है जो देवी Ishtar के मुकुट पर लगा हुआ है, परन्तु जिसे Dawn की बेटी ने मुकुट से निकाल लिया है अपने बगीचे को सजाने के लिए।

 

3rd stanza:

When I cry the hills laugh;

When I humble myself the flowers rejoice;

When I bow, all things are elated.

इस श्लोक में, बारिश का कहना है कि उसके आँसू पहाड़ियों पर हँसी लाते हैं, उसकी विनम्रता फूलों को खुशी देती है और उनके धनुष प्राकृतिक दुनिया के हर सदस्य को प्रसन्न करते हैं।

4th stanza:

The field and the cloud are lovers

And between them I am a messenger of mercy.

I quench the thirst of one;

I cure the ailment of the other.

इस श्लोक में बारिश कहता है कि वह धरती और बादल दोनों के बीच एक दूत है और वह दोनों के प्रेम पत्र एक दूसरे को भेजता है। हालांकि, बारिश उन दोनों को व्यक्तिगत रूप से राहत प्रदान करती है वह मैदान की प्यास को तृप्त करता है, और वह बारिश को जन्म देकर बादल को गर्भवती अवस्था से ठीक करता है।

5th stanza:

');(playerPro=window.playerPro||[]).push(i);})();

The voice of thunder declares my arrival;

The rainbow announces my departure.

I am like earthly life, which begins at

The feet of the mad elements and ends

Under the upraised wings of death.

इस पंक्ति में, बारिश का कहना है कि उनका आगमन हमेशा आकाश के गरजन के बाद होता है ठीक उसी तरह जैसे इंद्रधनुष उस समय की चेतावनी देता है जब बारिश चली जाएगी। बारिश का जीवन चक्र मानव जीवन के जितना संक्षिप्त है। मानव पृथ्वी से पैदा होते हैं, और बारिश किसी और तत्व से पैदा होता है। बारिश और मानव जीवन दोनों हमेशा के लिए जारी नहीं रह सकते।

6th stanza:

I emerge from the heart of the sea

Soar with the breeze. When I see a field in

Need, I descend and embrace the flowers and

The trees in a million little ways.

इस पंक्ति में, बारिश का कहना है कि उनका जीवन समुद्र की गहराई से शुरू होता है, फिर वह हवा में उठाया जाता है और हवा के साथ चलता रहता है। जब वह पृथ्वी के ऊपर उड़ता है, तो वह यह देखता है कि किस फील्ड को उसकी जरूरत है और जब उसे ऐसा कोई फील्ड मिल जाता है, तो वह नीचे आ जाता है और छोटे फूलों और पत्तों को गले से लगा लेता है।

7th stanza:

I touch gently at the windows with my

Soft fingers, and my announcement is a

Welcome song. All can hear, but only

The sensitive can understand.

इस पंक्ति में, बारिश का कहना है कि वह हर मानव परिवार की खिड़कियों को छूता है, और उनके निवासियों को उनके आगमन पर राहत मिलती है। हर जीवित आदमी वर्षा की आवाज सुन सकता है, लेकिन उनमें से केवल भावनात्मक लोग यह सराहना करते हैं कि यह ध्वनि कितनी महत्वपूर्ण है।

8th stanza:

The heat in the air gives birth to me,

But in turn I kill it,

As woman overcomes man with

The strength she takes from him.

इस पंक्ति में, बारिश का कहना है कि वह वातावरण के गर्म हवा से पैदा हुआ है, लेकिन वह अपने धीरे-धीरे जल से उस गर्मी से छुटकारा दिलाता है। वर्षा यहाँ अपनी तुलना किसी स्त्री से करती है। जिस तरह से स्त्री अपनी शक्ति को मनुष्य से लेती है, लेकिन फिर उस शक्ति का उपयोग कर मनुष्य को हरा देती है।

9th stanza:

I am the sigh of the sea;

The laughter of the field;

The tears of heaven.

इस पंक्ति में, बारिश कहती है कि जब समुद्र उल्लास करता है और अपनी सांस को छोड़ देता है, तो बारिश के जन्म की प्रक्रिया शुरू होती है। बारिश भी मैदान को हँसने का कारण देती है। अंत में, बारिश वास्तव में, स्वर्ग में देवताओं द्वारा रोये गए आँसू है।

10th stanza:

So with love –

Sighs from the deep sea of affection;

Laughter from the colorful field of the spirit;

Tears from the endless heaven of memories.

इन पंक्तियों में बारिश ऐसे बोल रहा है जैसे वह कोई पात्र सिग्नेचर कर रहा हो। वह समुद्र को अपना प्यार देता है, मैदान के हंसी और स्वर्ग के आँसू के साथ अपने प्यार को प्रदान करता है, जो सभी मानव व्यक्तित्व के आवश्यक भागों का निर्माण करते हैं।


Beamingnotes's Recommended Resources and Tools:

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.