Dust of Snow Summary by Robert Frost in Hindi

0

About the poet:

रॉबर्ट फ्रॉस्ट का जन्म 26 मार्च 1874 को सैन फ्रांसिस्को में हुआ था। न्यू हैम्पशायर में खेती में कोशिश करने और विफल होने के बाद फ्रॉस्ट और उनकी पत्नी एलिनोर मिरियम 1912 में इंग्लैंड चले गए। यहां फ्रॉस्ट एडवर्ड थॉमस, रूपर्ट ब्रुक और रॉबर्ट ग्रेव्स जैसे समकालीन ब्रिटिश कवियों से मिले और प्रभावित हुए थे।


फ्रॉस्ट की कविता मुख्य रूप से न्यू इंग्लैंड के जीवन और परिदृश्य से जुड़ी हुई है और वह परंपरागत कवि था।  उनकी रचनाएं अमेरिका में प्रकाशित होने से पहले इंग्लैंड में प्रकाशित हो चुकी थीं। ग्रामीण जीवन के यथार्थपूर्ण चित्रण और अमेरिकी देशज भाषा पर अधिकार की वजह से उन्हें साहित्य जगत मेंं बहुत सम्मान मिला। उनकी गिनती बीसवीं सदी के लोकप्रिय और समीक्षकों द्वारा सम्मानित कवि के रूप में की जाती है। फ्रॉस्ट को उनके लेखन के लिए ढेर सारे सम्मान मिले। सिर्फ कविता लेखन के लिए ही फ्रॉस्ट को चार बार पुलित्ज़र पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

About the poem:

माना जाता है कि अब रॉबर्ट फ्रॉस्ट द्वारा “dust of Snow” के रूप में जाना जाने वाला कविता लंदन बुध के दिसंबर 1920 के अंक में “Favour” शीर्षक के साथ प्रकाशित हुआ था। इस कविता को बाद में येल समीक्षा के जनवरी 1920 के अंक में “स्नो डस्ट” शीर्षक के तहत पुनः मुद्रित किया गया था। आखिरकार इसे फ्रॉस्ट द्वारा कविताओं के प्रसिद्ध संग्रह में “न्यू हैम्पशायर” नामक संग्रहित किया गया था, जिसे वर्ष 1923 में प्रकाशित किया गया था। इस संग्रह ने पुलित्जर पुरस्कार भी जीता।


Click here to Subscribe to Beamingnotes YouTube channel

Setting of the poem:

यह कविता एक सर्दियों के दिन पर लिखी गई है। कवि जिस घटना का वर्णन कर रहे हैं वह कहीं और बाहर हो रही है, शायद अपने घर के पीछे। यह स्पष्ट है क्योंकि वह एक हेमलॉक पेड़ के ऊपर बर्फ का उल्लेख करता है – एक शंकुधारी पेड़ जो आमतौर पर पूरे उत्तरी अमेरिका में पहाड़ियों पर उगता है।

Dust of Snow Summary by Robert Frost in Hindi

1st stanza:

The way a crow

Shook down on me

The dust of snow

From a hemlock tree


कविता की इन पंक्तियों में कवि एक शीतकालीन दिन का वर्णन करते हैं। और वह बर्फ से घिरे रास्तों में चलते हुए उन पेड़ो के निचे से गुजर रहे हैं जो की बर्फ से पूरी तरह से ढके हुए हैं। ऐसे ही चलते चलते कवि एक पेड़ के निचे पहुंचता हैं और खड़ा हो जाता है। जब कवि पेड़ की ओर देखता है तो उसे ज्ञात होता है की यह पेड़ तो हेमलॉक पेड़ है। यह उत्तर अमेरिकी शंकुधारी पेड़ था जिसे हेमलॉक कहा जाता था, इसकी गंध यूरोपीय पौधे की तरह प्रतीत होती है, जिससे हेमलॉक के नाम से जाना जाने वाला जहर बनाया जाता था। इसलिए, इसके नाम के आधार पर इस पेड़ का नाम रखा गया था। यह पेड़ कहीं से भी आपको पॉजिटिव एनर्जी देने वाली नहीं थी अर्थात यह कोई सकारात्मक पेड़ नहीं था।

और इन्ही सब बातों के बिच जब कवि पेड़ की तरफ देखता रहता है अचानक पेड़ से एक कौआ निकल आता है और उसे इस तरह अचनाक हलचल करने से पेड़ में लदे हुए बर्फ लेखक के ऊपर पानी की बून्द की तरह गिरने लगते हैं। लेखक यहाँ बर्फ की तुलना धूल के कणों से करते हैं जिनमे फर्क सिर्फ इतना है की बर्फ के कण सफ़ेद हैं।

परन्तु हवा में बहते ये बर्फ के कण धूल की तरह ही प्रतीति होते हैं। इस तरह इस घटना ने लेखक के हृदय तक अपना स्थान बना लिया।

2nd stanza:

Has given my heart

A change of mood

And saved some part

Of a day I had rued.

इन पंक्तियों में, कवि हमें बताता है कि किस तरह बर्फबारी के स्नान ने उन पर बहुत ही गहरा प्रभाव डाला था। वह कहता है कि इस बर्फ़बारी ने उनका मूड चेंज कर दिया। उस दिन वह एक सुस्त या निराशाजनक मनोदशा में था, और उस पर बर्फबारी गिरने से अचानक उसके दिल को चकित कर दिया। और इस तरह उदासी की जगह उत्सुकता ने ले लिया।

इसके अलावा, बर्फ के स्नान का एक और प्रभाव था कि जो की कवि के ऊपर पड़ा था। वह कहता है कि वह विशेष दिन कुछ ख़ास नहीं था। और इसी वजह से वह उस दिन में आगे कुछ ख़ास उम्मीद भी नहीं कर रहा था। लेखक ने मन ही मन यह सोच लिया था की वह विशेष दिन बर्बाद हो जाएगा।

हालांकि, उसके कंधे पर धूल की तरह बर्फ के स्नान ने उनका मन बदल दिया। इस घटना ने उन्हें महसूस कराया कि दिन पूरा ख़राब नहीं था। कम से कम उस दिन का कुछ हिस्सा सुखद रहा था, क्योंकि इस घटना ने लेखक को एक नया अनुभव दिया था कि वह इसे खजाने के रूप में रखने के साथ-साथ अपनी अद्भुत काव्य रचनाओं में से किसी एक के लिए उपयोग भी कर सकता था।

Leave A Reply

Your email address will not be published.