Not Marble Nor the Gilded Monuments Summary in Hindi by William Shakespeare: 2022

Spread the love

Last updated on September 9th, 2022 at 03:19 pm

“Not Marble Nor the Gilded Monuments” अंग्रेजी पटकथा लेखक विलियम शेक्सपियर द्वारा लिखित 154 सॉनेट्स में सर्वश्रेष्ठ और सबसे अधिक समीक्षकों द्वारा प्रशंसित सॉनेट्स में से एक है यह उचित युवा अनुक्रम का सहयोगी है, जिसमें कवि एक युवा व्यक्ति के प्रति अपने प्यार को अभिव्यक्त करता है। कई विद्वानों के अनुसार, सोनेट 55 समय और अमरत्व के बारे में एक कविता है। शेक्सपियर की सबसे प्रसिद्ध छंदों में से एक, यह कविता, समय के साथ क्षय की शक्तियों का सामना करने के लिए कवि के सोनेट्स की अमरता का दावा करती है।

About the Poet William Shakespeare in Hindi:

विलियम शेक्सपियर एक अंग्रेजी कवि, नाटककार और अभिनेता थे, जो अंग्रेजी भाषा में प्रमुख लेखकों में से एक थे और दुनिया के पूर्व-प्रसिद्ध नाटककार के रूप में व्यापक रूप से मान्य थे। उन्हें अक्सर इंग्लैंड के राष्ट्रीय कवि और “बार्ड ऑफ़ एवन” कहा जाता है। उनके मौजूदा कार्यों में लगभग 38 नाटकों, 154 सॉनेट्स, दो लंबी कथा कविताएं और कुछ अन्य छंद हैं। उनके नाटकों का हर प्रमुख भासा में अनुवाद किया गया है और किसी भी अन्य नाटक के मुकाबले अधिक बार प्रदर्शन किया जाता है।

शेक्सपियर स्ट्रैटफ़ोर्ड-पर-एवन, वार्विकशायर में पैदा हुए थे। 18 साल की उम्र में, उन्होंने ऐन हैथवे से शादी कर ली, जिनके साथ उनके तीन बच्चे थे: सुसंना, और जुड़वां हैमनेट और जूडिथ। 1585 और 1598 के बीच में, उन्होंने लंदन में एक अभिनेता, लेखक और खिलाड़ी के रूप में लॉर्ड चैम्बरलेन मेन नामक एक संस्था में सफल कैरियर शुरू किया, जिसे बाद में राजा के पुरुष के नाम से जाना जाता था। ऐसा लगता है कि वह स्ट्रेटफोर्ड से करीब 1613 में, 49 साल की उम्र में सेवानिवृत्त हुए, जहां उनकी तीन साल बाद मृत्यु हो गयी। शेक्सपियर की निजी जिंदगी के कुछ रिकॉर्ड बच गए, जिसने इस तरह के मामलों के बारे में उनकी शारीरिक उपस्थिति, कामुकता और धार्मिक विश्वासों के बारे में काफी अटकलें लगाई हैं, और उनके द्वारा दिए गए कार्यों को अन्य लोगों द्वारा लिखा गया है या नहीं यह संदेह भी छोड़ गया।

Not Marble Nor the Gilded Monuments Summary by William Shakespeare in Hindi :

कवि अपने प्रियजन से बात करते हुए पुरे अस्वासन के साथ कहता है की यह सोनेट हमेशा ऐसे ही अमर रहेगा जो सदा याद किया जायेगा दूसरी कोई भी memorials इसकी तुलना नहीं कर सकती। जबकि दूसरी मानव-निर्मित वस्तु को समय और युद्ध ये दोनों सहना पड़ता है और कोई भी इनके सामने टिक नहीं पता है। परन्तु ये दोनों मिलकर भी इस सॉनेट को कोई नुक्सान नहीं पहुंचा पाएंगे।  

यह कविता प्रशंसा की एक कविता है, जो प्यारी की सुंदरता की स्मृति का संरक्षण करती है, और इसी कारण के लिए प्रिय भी विनाश से बच जाएगा। वास्तव में वह इस सोनेट के पाठकों के मन में दुनिया के अंत तक स्वयं को जीवित रहेगा।

अपनी उदासीनता जहाँ कवि कविता की तुलना बंजर जमीं से करता है, उसे पीछे छोड़कर कवि कहता है की अगर एक युवक की सुंदरता को पथरो में तराश कर मूर्ति बना ली जाए तो उसकी सुंदरता जितने दिन तक जीवित रहेगी उससे भी ज्यादा जीवित इस बात से रहेगी की कवि ने उसकी सुंदरता का वर्णन अपने सॉनेट में किया है।

Also Read:  Summary of No Men are Foreign by James Kirkup in Hindi: 2022

अगले चार पंक्तियों में कवि अमरता को संबोधित करता हैं, लेकिन फिर कवि यह दावा करता है कि न केवल प्राकृतिक ताकतें बल्कि मानव युद्ध और लड़ाई भी उनके सॉनेट को नहीं मिटा सकती, जो कि युवाओं का जीवित रिकॉर्ड है। युद्ध के दौरान स्मारकों और मूर्तियों का अपमान किया जा सकता है लेकिन इन सोनेट को गाया जाता है। इन्हे मिटाया नहीं जाता।

प्रारंभ में, कवि युवा के सौंदर्य पर मौत के प्रभाव के बारे में बहुत चिंतित थे। उसने अपने सोनेट की स्थिति पर प्रकृति से भी सवाल किया, की उसके और जवान दोनों की मृत्यु के बाद सोनेट की क्या स्थिति होगी। लेकिन फिर, वह साहसपूर्वक यह दावा करता है कि मृत्यु उनके सोनेट के अमरता के सामने कुछ नहीं कर पाएंगे। युवाओं के लिए, वे कहते हैं, “Gainst death and all-oblivious enmity, shall you pace forth.”

वास्तव में कवि यह घोसित करता है की सिर्फ उस वक्त ही  नवयुवक का नाम ख़तम होगा जब इस दुनिया में अंतिम जीवन ख़तम हो जायेगा। लेकिन फिर भी इस दुनिया के ख़तम होने तक अंतिम पीढ़ी इसे याद रखेगी। और सिर्फ तभी जब कोई भी जीवित नहीं बचेगा तभी युथ का नाम ख़त्म हो जायेगा जिसमे न ही युवक की कोई गलती होगी और न ही कवि की।

Also Read:  Summary of “Lost Spring” by Anees Jung in Hindi: 2022

आखरी कयामत का यह विचार अंतिम कविता में मुख्य बिंदु है। कवि यह दवा करता है की जब तक एक भी वयक्ति इस सोनेट को पड़ने के लिए जिन्दा रहेगा तब तक यह सोनेट अमर रहेगा।

Suggested Reading: Not Marble Nor the Gilded Monuments Summary by William Shakespeare
Suggested Reading: Not Marble Nor the Gilded Monuments Analysis by William Shakespeare
Suggested Reading: Not Marble Nor the Gilded Monuments Meaning by William Shakespeare
Suggested Reading: Theme and Central Idea of Nor Marble Nor the Gilded Monuments
Suggested Reading: Not Marble Nor the Gilded Monuments Solved Questions
 

Whether you’re aiming to learn some new marketable skills or just want to explore a topic, online learning platforms are a great solution for learning on your own schedule. You can also complete courses quickly and save money choosing virtual classes over in-person ones. In fact, individuals learn 40% faster on digital platforms compared to in-person learning.

Some online learning platforms provide certifications, while others are designed to simply grow your skills in your personal and professional life. Including Masterclass and Coursera, here are our recommendations for the best online learning platforms you can sign up for today.

The 7 Best Online Learning Platforms of 2022