Sangatkar- Manglesh Dabral (Sangatkar Class 10 Hindi)

कक्षा – 10 ‘अ’ क्षितिज भाग 2             पाठ 9 संगतकार – मंगलेश डबराल     संगतकार कविता का सारांश :-   प्रस्तुत पंक्तियों में …

Read moreSangatkar- Manglesh Dabral (Sangatkar Class 10 Hindi)

कन्यादान कविता – ऋतुराज

कक्षा – 10 ‘अ’ क्षितिज भाग 2 पाठ 8                  कन्यादान- ऋतुराज     कन्यादान कविता का सार :- प्रस्तुत पंक्तियों में कवि …

Read moreकन्यादान कविता – ऋतुराज

यह दंतुरित मुसकान एवं फसल – नागार्जुन

कक्षा – 10 ‘अ’ क्षितिज भाग 2 पाठ 6   यह दंतुरित मुसकान एवं फसल – नागार्जुन   यह दंतुरित मुसकान एवं फसल कविता का सारांश : यह दंतुरित मुसकान में कवि …

Read moreयह दंतुरित मुसकान एवं फसल – नागार्जुन

आत्मकथा- जयसंकर प्रसाद (Atmakatha in Hindi by Jaishankar Prasad)

कक्षा – 10 ‘अ’ क्षितिज भाग 2 पाठ 4             आत्मकथा- जयसंकर प्रसाद   आत्मकथा का सारंश : जयशंकर प्रसाद जी के मित्रो ने उनसे …

Read moreआत्मकथा- जयसंकर प्रसाद (Atmakatha in Hindi by Jaishankar Prasad)

राम – लक्ष्मण – परशुराम संवाद (Ram Lakshman Parshuram Samvad in Hindi Class 10)

कक्षा – 10 ‘अ’ क्षितिज भाग 2 पाठ 2           राम – लक्ष्मण – परशुराम संवाद   राम – लक्ष्मण – परशुराम संवाद का सारांश : …

Read moreराम – लक्ष्मण – परशुराम संवाद (Ram Lakshman Parshuram Samvad in Hindi Class 10)

छाया मत छूना- गिरिजाकुमार माथुर (Chaya Mat Chuna Poem in Hindi)

कक्षा – 10 ‘अ’ क्षितिज भाग 2 पाठ 7      छाया मत छूना- गिरिजाकुमार माथुर   छाया मत छूना कविता का सारांश : सारांश :- प्रस्तुत पंक्ति “छाया मत …

Read moreछाया मत छूना- गिरिजाकुमार माथुर (Chaya Mat Chuna Poem in Hindi)

उत्साह एवं अट नहीं रही है- सूर्यकांत त्रिपाठी निराला (Suryakant Tripathi Nirala)

कक्षा – 10 ‘अ’ क्षितिज भाग 2 पाठ 5 उत्साह एवं अट नहीं रही है- सूर्यकांत त्रिपाठी निराला   उत्साह एवं अट नहीं रही है सारांश:-    उत्साह कविता निराला …

Read moreउत्साह एवं अट नहीं रही है- सूर्यकांत त्रिपाठी निराला (Suryakant Tripathi Nirala)

सवैया एवं कवित्त – देव (Class 10 Hindi Kshitij Savaiye by Dev Meaning)

कक्षा – 10 ‘अ’ क्षितिज भाग 2             पाठ 3    सवैया एवं कवित्त – देव   इस सवैये में कृष्ण के राजसी रूप का …

Read moreसवैया एवं कवित्त – देव (Class 10 Hindi Kshitij Savaiye by Dev Meaning)