Browsing Category

IX

ग्राम श्री- सुमित्रानंदन पंत (Explanation of Gram Shree Poem)

कक्षा - 9 'अ' क्षितिज भाग 1             पाठ 13      ग्राम श्री- सुमित्रानंदन पंत ग्राम श्री कविता का सार- Gram Shree Kavita Ka Saransh :- इस कविता में कवि ने गांव के प्राकृत सौंदर्य का बड़ा ही मनोहर वर्णन किया है। फिर चाहे वह हरे भरे खेत हो या बगीचे या फिर गंगा का तट सभी कवि की इस रचना में…
Read More...